SMCB बना SFB में परिवर्तित होने वाला पहला शहरी सहकारी बैंक

यह बैंक अप्रैल, 2021 से शिवालिक लघु वित्त बैंक के नाम से अपने बैंकिंग कामकाज की शुरुआत करेगा.

शिवालिक मर्केंटाइल कोऑपरेटिव बैंक (SMCB) भारत का ऐसा सहकारी बैंक बन गया है जो स्मॉल फाइनेंस बैंक के तौर पर बदलाव ला रहा है क्योंकि भारतीय रिज़र्व बैंक ने इस सहकारी बैंक के वाणिज्यिक बैंकिंग लाइसेंस को अपनी मंजूरी दे दी है.

यह बैंक अप्रैल, 2021 से शिवालिक लघु वित्त बैंक के नाम से अपने बैंकिंग कामकाज की शुरुआत करेगा. जनवरी, 2020 में SMCB को RBI से वाणिज्यिक बैंकिंग लाइसेंस के लिए इन-प्रिंसिपल अप्रूवल मिला था, जिसके तहत इस सहकारी बैंक को कारोबार शुरू करने के लिए 18 महीने का समय दिया गया था.

कैसे यह तकनीक बैंकिंग और वित्तपोषण में मदद करेगी?

शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक के एमडी और सीईओ, सुवीर कुमार गुप्ता के अनुसार, एक उन्नत प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म, जिसमें ओपन बैंकिंग को लागू करने की क्षमता शामिल है, जो डिजिटल व्यवसायों, फिनटेक (वित्तीय तकनीक) और गैर-बैंकिंग वित्तीय सेवा प्रदाताओं सहित बाहरी व्यवसायों के साथ आसानी से सहयोग करने में मदद करेगा.

उन्होंने यह भी कहा कि, इस तकनीक को अपनाने से हमें पहले से खोजे जा रजे ग्राहक क्षेत्रों का पता लगाने की भी अनुमति मिलेगी. यह प्रत्यक्ष शाखा नेटवर्क के किसी भी रूप पर निर्भरता के बिना देश भर में विस्तार करेगा.

Leave a Reply