” वक़्त “

कल क्या किया इतना क्यों सोचते हो ,
आज मिला है फिर से आओ इसे जी लेते है !!

देखो वक़्त की रफ़्तार आज फिर आ गया उतना ही समय लेकर ,
चलो इस पल को खुल के जी लेते है !!

बीते हुए कल में जीना बंद करते है ,
आने वाले कल की सोचना बंद करते है !!

आज , अभी इस समय का महत्व समझते है ,
जो कर सको तो इस पल को अपने नाम करते है !!

Leave a Reply